Jaaniye Brown Rice Ko Khaane Ke 5 Fayde


Brown rice khane ke fayde

नमस्कार, सलाम, वडक्कम जी| अइयो| आज हम आपको बताएंगे कि Brown Rice कैसे बनता है| Brown Rice के बारे में आप ने बहुत बार सुना होगा| Brown Rice को खाने के बहुत सारे फायदे हैं| Brown Rice के बारे में लोग internet पर रोज़ search कर रहे हैं| इसकी खुशबू ही ऐसी है की लोग इसकी तरफ खींचे चले आते हैं| इसके फायदे के बारे में हम detail में आपको समझाएंगे| हमारे साथ अंत तक बने रहिए|

दोस्तों, इन दिनों चावल खाने में एक नया रिवाज़ जुड़ गया है| वो रिवाज़ है Brown Rice खाने का concept| यकीन मानिए, केवल भारत में ही नहीं, विदेशों में भी ये Brown Rice बहुत ही ज्यादा प्रचलित हो गया है| इसके बारे में पूरी detail आपको इस article में मिलेगी| मगर उससे पहले जान लेते हैं की Brown Rice के फायदे क्या हैं?

Brown Rice के फायदे :

Friends, Brown Rice खाने के ढेर सारे फायदे हैं जो इस प्रकार हैं|

1. वजन घटाने में कारगर साबित होता है :

साथियों, शायद आप में से भी कुछ लोग अपना वजन घटाना चाहते होंगे| महंगी दवाइयां लेने के बावजूद कुछ असर नहीं हो रहा होगा| क्यों सही कहा न? तो अब इसका solution है हमारे पास| आज और अभी से Brown Rice का सेवन करना शुरू कर दीजिए| इसका कारण समझने की कोशिश करते हैं| दरअसल, Brown Rice में Cholesterol की मात्रा कम होती है| पर हां दोस्तों, Brown Rice में Fiber की मात्रा सबसे ज्यादा होती है| Fiber हमारे शरीर के मेटाबॉलिज़्म को ठीक रखने में help करता है| इसलिए जो भी लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं उनके लिए Brown Rice खाने से best option कोई हो ही नहीं सकती है| इसके लिए आप एक बार या दो बार के meal में white rice की बजाए Brown Rice का सेवन कर सकते हैं| इससे आपका वजन कुछ ही दिनों में घाट जाएगा| Brown Rice खाने से हमारे शरीर पर जो extra चर्बी जमा हो जाती है उसको गलने में भी मदद मिलती है|

2. Cholesterol को कम करने में सहायक है :

Brown Rice की सबसे अच्छी quality होती है की ये हमारी body में मौजूद बढ़े हुए Cholesterol की मात्रा को कम ही नहीं करता है बल्कि balance भी रखता है| इस कारण हम दिल से जुडी समस्याओं से बचे रहते हैं| क्यूंकि जब हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाता है तो हमें दिल से जुड़ी कई सारी बीमारियां एक साथ घेर लेती हैं| इसलिए दिल को तंदुरुस्त रखना है और healthy life जीना है तो आज से ही Brown Rice का सेवन करना शुरू कर दीजिए|

3. Diabetes के मरीजों के लिए लाभदायक है:

जिन लोगों को मधुमेह की शिकायत है उन्हें भी रोजाना Brown Rice खाना चाहिए| इससे उनका sugar level बढ़ेगा नहीं बल्कि कंट्रोल में रहेगा| जो लोग मधुमेह के शिकार नहीं हैं उनके लिए भी Brown Rice काफी ज्यादा फायदेमंद है| क्योंकि इससे मधुमेह रोग होने का ख़तरा भी कम हो जाता है| अगर आपके खून में शुगर level ज्यादा है तो Brown Rice उसे कम करेगा, कम है तो उसे थोड़ा सा बढ़ाने में helpful होता है Brown Rice| इसलिए experts भी मधुमेह के रोगियों को Brown Rice खाने की सलाह देते हैं|

4. Bodybuilders के लिए फायदेमंद है Brown Rice :

जैसा की हमने पहले भी आपको बताया है की जो ब्राउन राइस है वो fat reduction में बहुत लाभकारी होता है| Fat को burn करके muscles को develop करने में Brown Rice बहुत ज्यादा help करता है| अक्सर देखा गया है Friends, की जो लोग Gym जाते हैं, या exercise करते हैं, या फिर workout करते हैं या जो bodybuilders होते हैं उन्हें strength की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है| बहुत stamina लगता है| ऐसी condition में जो Brown Rice है ये बहुत अच्छा माना जाता है| साथ ही आपकी बॉडी को Brown Rice खाने से energy भी बहुत मिलती है| Brown Rice में Calorie कंटेंट बहुत ही कम मात्रा में होता है| लेकिन जिन vitamins और minerals की need हमारी body को होती है वो भरपूर मात्रा में पाया जाता है|

5. गर्भवती महिलाओं के लिए Brown Rice के फायदे :

दोस्तों, जो pregnant women हैं उनके लिए ब्राउन राइस का सेवन करना लाभदायक रहेगा| ऐसा देखा जाता है की pregnancy में hormones बहुत ही ज्यादा unbalanced हो जाते हैं| इसे balance करने का सबसे अच्छा उपाय है Brown Rice| इसके सेवन का एक और फायदा महिलाओं को मिलता है और वो है मूड स्विंग को रोकना| ऐसा माना जाता है की गर्भवती महिलाओं को बहुत ही ज्यादा कमजोरी हो जाती है| उनमे कैल्शियम की कमी हो जाती है| इस कमी को दूर करने में भी Brown Rice बहुत beneficial होता है| एक और बात, गर्भवती महिलाओं का पाचन तंत्र पूरी तरह से बिगड़ जाता है| कभी उन्हें constipation यानी कब्ज़ होता है तो कभी उन्हें लूज़मोशन हो जाता है| इसे ठीक करने में भी Brown Rice काफी फायदेमंद साबित होगा| क्यूंकि ये digestion के लिए बहुत ही अच्छा होता है| कई बार प्रेग्नेंट लेडी को body pain बहुत ज्यादा होता है| या बहुत बार उनकी body stiff हो जाती है| ऐसे में उनके लिए ब्राउन राइस खाना फायदेमंद साबित हो सकता है| क्यूंकि इसमें magnesium की मात्रा अधिक होती है| जो बॉडी पैन से relief दिलाता है| साथ ही हड्डियों और स्किन रिलेटेड problems को भी ये दूर करता है|

दोस्तों, आज हम आपको Brown Rice Benefits In Hindi में समझा रहे हैं| एक बारे आपने ये article ध्यान से पढ़ लिया तो आप कभी गूगल बाबा से ये नहीं पूछेंगे की Brown Rice Benefits In Hindi क्या हैं? हमें ये भी वादा करिए आप की Brown Rice Benefits In Hindi में अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भी आप बताएंगे| ताकि उन्हें भी किसी से ये ना पूछना पड़े की Brown Rice Benefits In Hindi क्या-क्या होते हैं? वैसे कुछ लोग तो ये भी search करते हैं गूगल पर की गूगल बाबा हमें How To Cook Brown Rice In Hindi में बताइए|  How To Cook Brown Rice In Hindi जैसे ही आप google पर search करें तो आपको ढेर सारे link सामने खुलेंगे| How To Cook Brown Rice In Hindi में किसी भी website से आप आसानी से जान सकते हैं| लेकिन हम आपको सबसे आसान भाषा How To Cook Brown Rice In Hindi में सिखाएंगे| चलिए अब आपके साथ share करते हैं Brown Rice और साथ ही चावल से जुड़े कुछ important facts.

Daawat Brown Rice

Bown rice

Pros of Brown rice

  • Healthy and good in taste
  • Good for weight loss
  • Good for body builders

Cons of Brown rice

  • Expensive in price
  • Cooking is little bit difficult

क्या होता है Brown Rice?

आपके भी दिमाग में ये केमिकल लोचा हो रहा होगा कि आखिर ये Brown Rice है किस बला का नाम? क्या इसकी अलग तरह से खेती की जाती है? क्या इसका कोई अलग तरीके का बीज होता है? इन सब सवालों के जवाब हम आपको देंगे| दरअसल, ब्राउन राइस कोई दूसरे किस्म का चावल नहीं है| जो धान हम अपने खेतों में उगाते हैं Brown Rice वही धान होता है| इसके बाद धान उगने के बाद से जो चावल बनाने का process होता है, अंतर वहां से आता है| 

यही अंतर होता है एक सफ़ेद चावल और भूरे चावल यानी white rice और Brown Rice में| वो अंतर ये होता है की जो ब्राउन राइस होता है, उसमें धान का जो बाहरी आवरण होता है हम सिर्फ और सिर्फ उसे हटाते हैं| उसके बाद धान पर एक और लेयर होती है जो ब्रॉन कहलाती है| ये brown color की ही होती है| 

उसको नहीं हटाते हैं| इसके लिए करते ये हैं की जो धान होता है, उसे ही पानी में पहले boil कर लिया जाता है| इसके बाद उसे सुखाते हैं फिर कुटवाते हैं| इससे होता ये है की धान का जो ब्रॉन layer होता है वो उसी में पड़ा रहता है हटता नहीं है| यही बन जाता है Brown Rice| ये एक healthy rice होता है| अगर इस ब्रॉन layer को हटा दें तो वो बन जाता है normal सफ़ेद चावल जो भारत में बिहार राज्य में सबसे ज्यादा खाया जाता है| इसके अलावा बंगाल के लोग भी चावल बड़े शौक से खाते हैं| पंजाबियों का तो चावल के बिना खाना ही नहीं पचता है| बात करें South Indians की तो इन्हे भी चावल के साथ रसम खाने की ललक होती है| भारत की बात करें तो Uttar Pradesh, Punjab और Haryana से हर साल तीन लाख तन Brown Rice का निर्यात यानी export होता है|

चलिए दोस्तों, अब चावल के बारे में कुछ important और interesting facts आपको बताते हैं|

चावल के प्रकार (Types of Rice) :

दोस्तों, चावल के 3 प्रकार होते हैं|

  • Long Grain Rice
  • Medium Grain Rice
  • Short Grain Rice

Long Grain Rice में बासमती rice आता है| इस rice को kitchen का राजा भी कहा जाता है| ये rice पकाने के बाद puffy हो जाता है और separate ही रहता है| इस प्रकार का चावल बहुत ज्यादा sticky नहीं होता है|

अब बारी आती है Medium Grain Rice की| ये rice long grain rice से थोड़ा सा moist और tender होता है| पकने के बाद ये चावल थोड़ा sticky हो ही जाता है| Normally ज्यादातर घरों में यही चावल use किया जाता है|

Short Grain Rice की बात करें तो ये rice पकाने के बाद थोड़ा ज्यादा ही चिपचिपा सा लगने लगता है| इस rice को idli, डोसा आदि बनाने के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है|

अब हम आपको बताएंगे की चावल की कितनी variety होती है| लेकिन उससे पहले हम आपको बता दें कि अगर आप एलोवेरा के फायदे के बारे में जानकारी चाहते हैं तो हमारे इस article को website पर पढ़ सकते हैं| अब आपको बताते हैं की कितने प्रकार की चावल की किस्में पूरे विश्व में होती हैं?

चावल की किस्में (Variety of Rice):

बासमती Rice :  

दोस्तों, ये rice अपने लाजवाब स्वाद और खुशबू के कारण पूरे विश्व में जाना जाता है| इसी को किचन का राजा भी कहते हैं| बासमती राइस पकाने के बाद fluffy और separate होता है| इसी चावल से अलग अलग प्रकार की बिरयानी भी बनाई जाती है जैसे veg बिरयानी, chicken बिरयानी, मटन biryani आदि| बात करें इसकी खेती की तो बासमती rice की खेती भारत के अलावा पाकिस्तान, बांग्लादेश तथा अन्य जगहों पर भी उगाया जाता है|

Black Rice :

ब्राउन राइस के अलावा चावल की एक और किस्म होती है जिसका नाम होता है Black Rice| इस rice को forbidden rice या emperors राइस भी कहा जाता है| ये ज्यादातर China में ही उगाया जाता है| क्या आप जानते हैं कि भारत में Black Rice कहां उगाई जाती है? दरअसल, भारत में Black Rice एक प्रयोग के तौर पर उगानी शुरू की गई थी| मेनका गांधी ने ही इसकी पहल की थी| इसकी शुरुआत अब से तीन साल पहले ही हुई है यानी की वर्ष 2018 में| धान का कटोरा के नाम से जाने-जाने वाले चंदौली में ही इसकी सबसे पहले शुरुआत हुई थी| Black Rice की खेती शुरू करने का मकसद था किसानों की आय में वृद्धि करना|

आज हम आपको ब्राउन राइस के अलावा चावल की और भी कई किस्मों के बारे में बता रहे हैं| आपको हम ये भी बताएंगे कि Brown Rice के फायदे क्या हैं? अब एक और किस्म के बारे में बताते हैं आपको|

Wild Rice :

मित्रों, शायद ही आप में से कोई इसके बारे में जानता हो की चावल की एक और किस्म Wild Rice भी होती है| Wild Rice को ये नाम इसलिए मिला क्योंकि यह rice जंगलों और झीलों के किनारे उगता है| इस rice का कलर black होता है| Gluten फ्री होने के साथ साथ इसमें भरपूर मात्रा में ज़िंक और phosphorus पाया जाता है|  चावल को चीन तथा उत्तरी America में भी खाया जाता है|

Jasmine Rice :

दोस्तों, अब तक आप केवल white rice और ब्राउन राइस के बारे में ही जानते होंगे| लेकिन आज हम आपको बता रहे हैं एक ख़ास तरह का rice जो की Thailand में उगाया जाता है| उस Rice का नाम है Jasmine Rice|

दोस्तों, इससे पहले कि हम आपको ब्राउन राइस के अलावा चावल की कुछ और किस्मों के बारे में बताएं हम आपको बताना चाहेंगे की अगर आप अपनी त्वचा को गोरा बनाना चाहते हैं और अपनी स्किन का ख्याल रखना चाहते हैं तो आप हमारा article Multani Mitti जरूर पढ़ें| साथ ही अगर आपको ये भी जानना है की केसर खाने से क्या फायदे होते हैं और ये इतना महंगा क्यों होता है तो आप हमारी post को पढ़ सकते हैं|

Arborio Italian Short Grain Rice :

हम दावे के साथ ये कह सकते हैं की इस Rice का नाम आपने पहले कभी नहीं सुना होगा| इसका नाम arborio नमक Valley से पड़ा| वहां village का नाम Arborio है जहां पर इसका उत्पादन होता है| हालांकि कुछ लोग इस rice को रसीतो भी बोलते हैं| मगर हम आपको बता दें की रासितो किसी rice का नाम नहीं है| ये एक डिश का नाम है जो इस चावल से बनती है| इसका texture बहुत ही ज्यादा sticky यानी चिपचिपा होता है|

दोस्तों, आज हम आपको Brown Rice Benefits In Hindi में समझाने वाले हैं| क्योंकि आप में से ही बहुत से लोग google बाबा से पूछते हैं कि Brown Rice Benefits In Hindi क्या हैं? Brown Rice Benefits In Hindi में शायद ही आपको कहीं और इतनी detail में जानकारी मिले| Brown Rice Benefits In Hindi में समझाने का हमारा मकसद सिर्फ एक है की आपको ब्राउन राइस के बारे में अच्छे से पता लग जाए और आप Brown Rice Benefits In Hindi में दूसरों को भी बता सकें| ब्राउन राइस खाने से आप fit एंड fine रहेंगे| अब बात करते हैं चावल की एक और किस्म की|

Red Rice :

मित्रों, Red Rice का flavour nutty होता है| शायद ही आप में से कोई ये जानता होगा की Red Rice जो है वो नेपाल, भूटान, भारत, जापान और अफ्रीका में सबसे ज्यादा उगाया जाता है| भारत में लाल चावल असम की ब्रह्मपुत्र घाटी में उगाया जाता है| ख़ास बात ये है की इसे बिना किसी रासायनिक खाद की मदद से उगाया जाता है| इस चावल की किस्म को ‘बाओ धान’ भी कहते हैं| असम के लोगों के भोजन का ये सबसे important part होता है| आपको बता दें, ब्राउन राइस के मुकाबले Red Rice में आयरन की प्रचुर मात्रा होती है|

How To Cook Brown Rice In Hindi :

How to cook brown rice

दोस्तों, अब बारी है How To Cook Brown Rice In Hindi के बारे में जानने की| How To Cook Brown Rice In Hindi लिखकर बहुत से लोग google पर search करते हैं| How To Cook Brown Rice In Hindi में हम आपको समझा रहे हैं ताकि आप अच्छे से सीख लें की ब्राउन राइस को पकाते कैसे हैं? इसे पकाना बहुत ही आसान है| वादा कीजिए की How To Cook Brown Rice In Hindi में जानकर आप अपने दोस्तों और पड़ोसियों को भी How To Cook Brown Rice In Hindi में समझाएंगे| चलिए शुरू करते हैं| 

Step 1 :

आपको तीन चौथाई कप ब्राउन राइस लेना है| सबसे पहले आप इन्हें अच्छी तरह से धो लें| धोने के बाद ब्राउन राइस पानी absorb करके एक कप के हो जाएंगे| 

Step 2 :

अब एक कप चावल के लिए आपको दो कप पानी एक पैन में डालना है| अगर आपको नमकीन चावल पसंद हों तो आप थोड़ा नमक भी ऊपर से डाल सकते हैं| 

Step 3 :

अब gas को on करें और उबाल आने दें| ब्राउन राइस बनने में थोड़ा ज्यादा time लेते हैं white rice के मुकाबले में| 

Step 4 :

जब पानी में उबाल आ जाए तो एक बार चम्मच से उसे मिलाएं और फिर ढक्कन लगा दें| 

Step 5 :

Gas medium पर कर लें और तब तक cook होने दें जब तक सारा पानी absorb न हो जाए| इसमें करीब 10 से 15 मिनट लगेंगे| अब ब्राउन राइस ऑलमोस्ट तैयार हैं| अब gas बंद करें और इसे दो से तीन मिनट ढके रहने दें|

Step 6 :

फिर ढक्कन हटा कर spoon या fork से हल्के हल्के मिलाएं| इसे एक bowl मैं shift करें और ये serve करने को बिल्कुल तैयार हैं| ब्राउन राइस बनाते समय चावल और पानी का राशियों ठीक रखें| 

Step 7 :

शुरुआत में इसे high flame पर बनाएं और फिर flame low करना है| Pressure Cooker में बनाएंगे तो चिपचिपे से बन सकते हैं इससे अच्छा आप saucepan में ही बनाएं|

निष्कर्ष (Conclusion) :

इस प्रकार आपने आज हमारे article के माध्यम से जाना कि ब्राउन राइस खाने से आपको कितने फायदे मिल सकते हैं| तो आप भी नार्मल राइस की बजाए healthy rice यानी ब्राउन राइस खाना शुरू करिए| आपसे नई जानकारी के साथ बहुत जल्द मिलेंगे|

Previous बादाम खाने के ऐसे फायदे आपने पहले कहीं देखे न होंगे। Badam Khane Ke Fayde
Next 7 Best Independence Day Quotes in Hindi | स्वतंत्रता दिवस उद्धरण